23 मई, 2011

ब्राह्मणॉ की साजिश

साढ़े तीन प्रतिशत कथित विदेशी आर्य ब्राह्मणॉ ने भारत के मूल निवासी 85 प्रतिशत दलित पिछड़ॉ व अल्पसंख्यकॉ के हक पर कब्जा जमाया है।
ब्राह्मणॉ के प्रचार तंत्र ने पूरे समाज को गुमराह किया। उन्हॉने दलितों व पिछड़ो को मंदिर, घाट, शिवालय, व्रत, कथा, त्यौहार व मेलों से दूर रहने की सलाह दी। और कहा कि यह सभी ब्राह्मणॉ की रोजगार योजना की गांरटी है। इससे उन्हॅ धन एंव मान दोनों हासिल हो रहा है। दलित व पिछड़ा समाज धन व मान दोनों से हीन है। समाज निर्माता ब्राह्मणॉ ने सुनियोजित साजिश के तहत दलितों व पिछड़ॉ को शिक्षा से वंचित किया और डिवीजन व डिस्ट्राय की नीति पर चल कर समाज के विभिन्न वर्गों को लड़ा कर अपना हित साधा है।